Bewafa Shayari 

Bewafa Shayari:-

दर्द है इस दिल में अब भी ए दोस्त,
जो बयां होने को बाकी है,
उसकी बेवफाई कुछ कम थी कल,
मुकम्मल होने को साजिश आज भी थोड़ी बाकि है…!!!
Dard Hai Is Dil Me Ab Bhi Aye Dost,
Jo Bayan Hone Ko Baki Hai,
Uski Bewafai Kuch Kam Thi Kal,
Mukammal Hone Ko Sajish Aaj Bhi Thodi Baki Hai…!!!

Bewafa Shayari

इश्तेहार निकला था मोहब्बत का,
हमने भी फारम भर दिया था,
किस्मत थी इतनी बुरी हमारी,
रिजल्ट में हमे बस बेवफाई ही मिला था…!!
Ishtehar Nikla Tha Mohabbat ka,
Humne Bhi Faram Bhr Diya Tha,
Kismat Thi Itni Buri Humari,
Result Me Hume Bas Bewafai Hi Mila Tha…!! …